• Hindi Information
  • Native
  • Haryana
  • Rohtak
  • The Observe Leveling Is Stated To Be In The Center Of The Soil, The Youth And The Passer by Are Getting ready For The Military Recruitment And The Passer by Is Disturbed By The Mud Blowing.

रोहतकएक दिन पहले

  • कॉपी लिंक

छोटूराम स्टेडियम में दौड़ लगाते युवा।

शहर के छोटूराम स्टेडियम पर सेना भर्ती की तैयारी कराने वाले निजी एकेडमी संचालकों ने कब्जा कर लिया है। निजी एकेडमी के संचालकों ने जिला खेल कार्यालय के अधिकारियों को स्टेडियम के एथलेटिक्स ग्राउंड का लेवल बराबर करने का हवाला देकर एक सप्ताह पूर्व मिट्‌टी डलवा दी, लेकिन संचालकों ने अभी तक ग्राउंड में लेवलिंग का काम नहीं कराया।

लिहाजा अब सेना भर्ती की तैयारी करने वाले युवा मिट्‌टी के उठते गुबार के बीच सांस, दमा व छाती के अन्य रोगों को दावत देने की दौड़ लगा रहे हैं। नियमित तौर पर दाैड़ का अभ्यास करने के लिए स्टेडियम के ग्राउंड में 500 से ज्यादा युवा पहुंच रहे हैं। 50 से 80 युवाओं का बैच एक साथ दौड़ लगाता है, ऐसे में इनके बीच कोरोना संक्रमण का प्रसार बढ़ने का खतरा मंडराने लगा है। स्टेडियम के अंदर काेराेना से बचाव की गाइडलाइन की पूरी तरह से धज्जियां उड़ाई जा रही हैं, जिसे देखने वाला काेई नहीं है।

जिला खेल अधिकारी सुखबीर सिंह बल्हारा बीमार होने का हवाला देकर अवकाश पर हैं। कार्यवाहक खेल अधिकारी लाजवंती की ग्राउंड में हो रही मनमानी पर नजर नहीं पड़ रही। खेल कार्यालय के डिप्टी सुपरिंटेंडेंट दलेल सिंह का तर्क है कि कोरोना काल में खेल विभाग के पास एथलेटिक्स ग्राउंड की मरम्मत कराने के लिए बजट नहीं है। इसलिए एकेडमी संचालकों की ओर से लेवलिंग कराने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है। अगले सप्ताह में लेवलिंग का काम करा दिया जाएगा। फिलहाल वर्तमान में व्यवस्था बनाने के विकल्प पर विचार किया जाएगा।

मिट्‌टी के गुबार उठने से राहगीरों को सांस लेने में हो रही परेशानी

स्टेडियम के एथलेटिक्स ग्राउंड में मिट्‌टी से उठ रहे गुबार से आसपास के मकानों में रह रहे लोगों और सड़क से गुजरने वाले राहगीरों को आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। स्थानीय निवासियों और राहगीरों को सांस लेने में दिक्क्त हो रही है। लोगों ने मांग की है कि जिला प्रशासन की ओर से जल्द से जल्द समस्या का समाधान कराया जाए। वहीं ग्राउंड में दौड़ लगाने वाले युवाओं में दो गज की दूरी न होने के कारण मिट्‌टी के गुबार में तेज खांसी व सांस लेने में परेशानी भी साफतौर पर देखने को मिल रही है।

खेल कार्यालय के कोच भी हो चुके हैं पाॅजिटिव

जिला खेल कार्यालय के अधिकारियों की अनदेखी की वजह से विभिन्न खेलों का प्रशिक्षण देने वाले कोच व ट्रेनिंग के लिए आने वाले खिलाड़ियों पर कोरोना संक्रमित होने का खतरा मंडरा रहा है। पिछले कुछ महीनों में सरकारी कोच कोरोना पॉजिटिव भी हो चुके हैं। फिर भी अब ग्राउंड पर दौड़ लगाने के लिए एकेडमी की ओर से आने वाले युवा व संचालक घोर लापरवाही बरतते हुए कोरोना संक्रमण के प्रसार को बढ़ावा देने का प्रयास कर रहे हैं।

सारी जिम्मेदारी सरकार की नहीं, लोग भी पहल करें

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सारी जिम्मेदारी सरकार की नहीं है। लोगों को भी जागरूक होकर संक्रमण से बचाव के लिए आगे आना होगा। एकेडमी संचालक मोटी फीस लेकर युवाओं को सेना भर्ती की तैयारी करा रहे हैं। संचालकों को कोरोना से बचाव की गाइडलाइंस का पालन कराने के लिए व्यवस्था बनानी चाहिए। यदि वे नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं तो जिला और पुलिस प्रशासन को पत्र लिखकर महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई करने के लिए कहा जाएगा। ग्राउंड पर मिट्‌टी लेवलिंग कराने के लिए एकेडमी संचालकों ने डलवाई है। उन्होंने ही लेवलिंग कराने का जिम्मा लिया है। – दलेल सिंह, डिप्टी सुपरिंटेंडेंट, जिला खेल कार्यालय, रोहतक।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *