रायपुर2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • निजी स्कूलों में ऑनलाइन एंट्री ही नहीं, दूसरे चरण की लॉटरी अभी नहीं

शिक्षा का अधिकारी (आरटीई) के तहत निजी स्कूलों में प्रवेश के लिए जुलाई में सीटें बांटी गई। लेकिन इनमें से कितनी सीटों पर छात्रों ने एडमिशन लिया इसकी जानकारी स्कूल शिक्षा विभाग को भी नहीं है। इस तरह से अभी आरटीई का पहला चरण ही खत्म नहीं हुआ है। इसलिए दूसरे चरण में प्रवेश के लिए सीटों के आबंटन में अभी और देरी होगी। शिक्षाविदों ने बताया कि जुलाई में जब सीटें आबंटित की गई तो इसके बाद जिन छात्रों ने प्रवेश लिया, उसके लिए ऑनलाइन एंट्री होनी थी। ताकि यह पता चल सके कि संबंधित स्कूल की सीटें भर गई या फिर खाली है। लेकिन कई इसकी ऑनलाइन एंट्री ही नहीं हुई है। वहीं दूसरी ओर कोरोना संक्रमण की वजह से स्कूल बंद है। इसलिए शिक्षा विभाग के अफसर भी प्रवेश को लेकर गंभीर नहीं दिख रहे हैं। शिक्षा विभाग के अफसरों का कहना है कि पहले चरण में सीटें पहले ही बांटी जा चुकी है। दूसरे चरण के लिए लॉटरी जल्द की जाएगी। इसके लिए सूचना जारी होगी। गौरतलब है कि आरटीई के तहत रायपुर जिले के निजी स्कूलों में करीब साढ़े आठ हजार सीटें आरक्षित है। इनके लिए पहले चरण में छह हजार सीटों का आबंटन लॉटरी के माध्यम हुआ।

81460 सीटें रिजर्व
आरटीई के तहत प्रदेश के प्राइवेट स्कूलों में 81460 सीटें आरक्षित है। पहले चरण में करीब 78 हजार सीटें बांटी गई थी। इसमें से अभी कितने छात्रों ने प्रवेश लिया इसकी जानकारी विभाग को भी नहीं है। प्रवेश में हो रही देरी की वजह से इस बार भी आरटीई की बड़ी संख्या में सीटें खाली रहने की संभावना है।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *