बठिंडा31 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

बठिंडा जिले के गांव हमीरगढ़ में खौफनाक कदम की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस द्वारा फंदे से उतारे गए बेअंत सिंह और उसके तीन बच्चों के शव।

  • मृतक व्यक्ति की पहचान 35 वर्षीय बेअंत सिंह के तौर पर हुई है। वह रिक्शा चलाकर परिवार का पेट पाल रहा था
  • बच्चों में 7 साल का बेटा प्रभजोत सिंह, three साल की बेटी खुशप्रीत कौर और सवा साल की बेटी सुखप्रीत कौर शामिल
  • पुलिस ने चारों शवों को रामपुरा मोर्चरी में भेज आगे की कार्रवाई शुरू की, मृतक बेअंत सिंह पर भी केस दर्ज

बठिंडा में गुरुवार सुबह एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जिले के गांव हमीरगढ़ में एक व्यक्ति ने अपने तीन बच्चों की हत्या करने के बाद फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। बताया जाता है कि वह महीनेभर पहले हो चुकी पत्नी की मौत से परेशान और रिश्तेदारों से नाराज था। इस बाद का खुलासा मौके से मिले eight पन्ने के सुसाइड नोट से हुआ है। उसमें उसने लिखा है कि मैं अपनी पत्नी के बिना नहीं रह सकता। उसकी मौत के बाद मेरा जीना मुश्किल हो गया है और अब उसी के पास जा रहा हूं। मेरे मरने के बाद किसी भी रिश्तेदार को एक तिनका भी मत उठाने देना। गेहूं और सारे सामान के अलावा घर बेचकर गुरुद्वारे में दे दिया जाए। पुलिस ने चारों शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए मोर्चरी में भिजवा दिया है।

मृतक व्यक्ति की पहचान 35 वर्षीय बेअंत सिंह के तौर पर हुई है। वह रिक्शा चलाकर परिवार का पेट पाल रहा था। वहीं बच्चों में 7 साल का बेटा प्रभजोत सिंह, three साल की बेटी खुशप्रीत कौर और सवा साल की बेटी सुखप्रीत कौर हैं। मिली जानकारी के अनुसार बेअंत सिंह की पत्नी लवप्रीत कौर की करीब एक माह पहले कैंसर के कारण मौत हो गई थी। इसके बाद से वह मानसिक तौर पर परेशान रहने लगा था और आज इसी के चलते उसने यह खौफनाक कदम उठा लिया। सूचना के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर चारों शवों को फंदे से उरवाकर रामपुरा सिविल अस्पताल स्थित मोर्चरी में भेज दिया।

घटनास्थल पर मौजूद पुलिस और मृतक परिवार के आस-पड़ोस के लोग।

घटनास्थल पर मौजूद पुलिस और मृतक परिवार के आस-पड़ोस के लोग।

वहीं पुलिस को मौके से eight पेज का सुसाइड नोट भी मिला है। इसमें उसने न सिर्फ मरने के लिए मजबूर होने की कहानी लिखी है, बल्कि यह भी जिक्र किया है कि उसके घर और घर के सारे सामान को बेचकर गुरुद्वारे में दान कर दिया जाए। मुश्किल समय में मेरा और मेरे परिवार का किसी ने साथ नहीं दिया, इसलिए किसी भी रिश्तेदार को यहां से एक तिनका भी नहीं उठाने देना। मृतक बेअंत सिंह ने पूरी लिस्ट बनाई है कि किस सामान का क्या करना है। इसके अलावा उसने पत्नी के वियोग में पंजाबी में शे’र-ओ-शायरी भी की है।

बहरहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है। इस बारे में थाना भगता भाईका के एसएचओ अमृतपाल सिंह ने बताया कि कानूनी कार्रवाई करने के लिए पुलिस मृतक बेअंत सिंह पर बच्चों की हत्या करने के आरोप में मामला दर्ज कर रही है। चारों शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया गया है। मौके से मिले सुसाइड नोट और आस-पड़ोस के लोगों से पूछताछ के आधार पर भी आगे की कार्रवाई की जाएगी।

घटना के बारे में जानकारी देते मृतक बेअंत सिंह के पड़ोसी।

घटना के बारे में जानकारी देते मृतक बेअंत सिंह के पड़ोसी।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *