• Hindi Information
  • Native
  • Punjab
  • Protest In opposition to Agricultural Legal guidelines, Boycott Assembly With Central Authorities, Protests Proceed On 14th Day; Burnt Effigy Of Haryana CM

पंंजाब11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अमृतसर के देवीदासपुरा में रेलवे ट्रैक पर 14वें दिन धरने पर बैठे किसान-मजदूर संघर्ष कमेटी के सदस्य।

  • किसान-मजदूर संघर्ष कमेटी के नेता गुरबचन सिंह चब्बा ने कहा-केंद्रीय कृषि मंत्री के साथ बैठक सिर्फ गुमराह करने की साजिश
  • पिपली और सिरसा में प्रदर्शनकारी किसानों पर पानी की बौछार फेंकने और लाठीचार्ज को केंद्र व हरियाणा सरकारों की मिलीभगत बताया

कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाबभर में आंदोलन जारी है। अमृतसर के गांव देवीदासपुरा गांव में 14वें दिन भी किसान रेल ट्रैक पर धरने पर बैठे हैं, वहीं सूबे में जगह-जगह हरियाणा के सीएम के पुतले फूंके गए। हालांकि गुरुवार को केंद्र सरकार ने किसान जत्थेबंदियों को मीटिंग में बुलाया है, लेकिन किसान संघर्ष-मजदूर संघर्ष कमेटी ने इसका बॉयकोट किया हुआ है। जत्थेबंदी के नेताओं का कहना है कि किसी भी सूरत मेंं यह आंदोलन रुकने वाला नहीं है।

इस मौके किसान-मजदूर संघर्ष कमेटी के नेता गुरबचन सिंह चब्बा ने कहा कि कल हमें केंद्र सरकार की ओर से मीटिंग का न्यौता आया था, लेकिन कमेटी ने मीटिंग में नहीं जाने का फैसला किया है। चब्बा की मानें तो यह किसानों को बर्गलाने की साजिशभर है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय कृषि मंत्री के साथ मीटिंग में किसानों को समझाया जाएगा, जैसे कि पंजाब के किसानों को इसकी समझ ही नहीं है, सारी समझ भाजपा और उसके मंत्रियों को ही है।

धरने पर बैठे किसान जत्थेबंदी के लोग। इनका कहना है-सरकार इन्हें गुमराह कर रही है।

धरने पर बैठे किसान जत्थेबंदी के लोग। इनका कहना है-सरकार इन्हें गुमराह कर रही है।

इस दौरान चब्बा ने कहा कि मंगलवार को सिरसा में और उससे भी पहले पिपली में किसानों पर जो जुल्म किए गए हैं, यह सारा मोदी सरकार के इशारे पर ही हुआ है। यहां किसानों के आंदोलन में उन पर पानी की बौछारें छोड़ी और लाठीचार्ज किया गया और न ही उन्हें मीटिंग में आने के लिए कहा गया है। इसी के चलते आज हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर के जगह-जगह पुतले फूंके जा रहे हैं। किसान नेता ने कहा कि किसी भी सूरत मेंं यह आंदोलन रुकने वाला नहीं है।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *