रायपुर2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

रायपुर में लोग कस्टमर केयर में शिकायत करने के लिए गूगल पर नंबर सर्च करते हैं। उस नंबर पर कॉल करने के बाद पता चलता है कि ठगी हो गई। ऐसे में ही मामले में फिर एक व्यक्ति के खाते से कॉल करते ही 94 हजार रुपए से ज्यादा निकल गए।

  • डीडी नगर क्षेत्र का मामला, गूगल-पे के कस्टमर केयर पर कॉल करते ही ठगी
  • दोस्त के खाते में यूपीआई से भेज रहा था रुपए, दूसरे के खाते में गए तो किया कॉल

छत्तीसगढ़ के रायपुर में ऑनलाइन ठगी का खेल जारी है। कोरोना संक्रमण के बाद से ये लगातार बढ़ रहे हैं। लोग कस्टमर केयर में शिकायत करने के लिए गूगल पर नंबर सर्च करते हैं। उस नंबर पर कॉल करने के बाद पता चलता है कि ठगी हो गई। ऐसे में ही मामले में फिर एक व्यक्ति के खाते से कॉल करते ही 94 हजार रुपए से ज्यादा निकल गए। मामला डीडी नगर थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, न्यू चंगोराभाठा निवासी हरीश कुमार देवांगन ने 2 अक्टूबर को अपने दोस्त के गूगल पे एकाउंट में 16, 600 रुपए ट्रांसफर कर रहा था। इस दौरान गलती से किसी अन्य खाते में चले गए। दोस्त ने कॉल कर बताया कि रुपए उसके खाते में नहीं आए हैं। इस पर वह अगले दिन राजकुमार कॉलेज के पास एसबीआई की शाखा में गया। वहां उससे कहा गया कि गूगल-पे से ही बात करें।

गूगल से सर्च कर निकाला कस्टमर केयर नंबर
इसके बाद हरीश घर आ गया और गूगल पर सर्च कर गूगल-पे का कस्टमर केयर नंबर निकाला। उससे तीन अलग-अलग नंबरों के जरिए बात की गई। बात करने के दौरान ही उसके एसबीआई के खाते में बचे बाकी 94,400 रुपए भी निकल गए। कॉल कटने के बाद जब उसके मोबाइल पर मैसेज आया तो उसे ठगी का पता चला। इसके बाद उसने थाने पहुंचकर मामला दर्ज कराया है।

रायपुर में लगातार हो रही ऑनलाइन ठगी की वारदातें

  • केस -1 : देवेंद्र नगर में कारोबारी के मोबाइल पर रुपए कटने का मैसेज आया। इंटरनेट से नंबर निकाल कॉल किया तो खाता अपडेट करने का झांसा देकर 11 बार में 5.35 लाख रुपए निकाल लिए।
  • केस-2 : बूढ़ापारा निवासी युवती ने साइट से ड्रेस आर्डर की थी। नहीं मिली तो कस्टमर केयर नंबर पर कॉल किया। गूगल-पे के जरिए यूपीआई नंबर पूछकर 25 हजार रुपए निकाल लिए।
  • केस-3 : मौदहापारा में स्पोर्ट्स टीचर ने सोशल मीडिया पर विज्ञापन देख खाने का ऑर्डर किया। एडवांस पेमेंट करते ही खाते से 12 हजार रुपए से ज्यादा निकल गए।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *