• Hindi Information
  • Native
  • Chandigarh
  • One Lakh Rupees Compensation Order For Preserving Mom daughter In Police Station For two Days, Authorities Can Recuperate From Accountable Police Personnel In The Case

चंडीगढ़40 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

प्रतीकात्मक फोटो।

  • रोजनामचे में एंट्री के बिना थाने में नहीं रख सकते : हाईकोर्ट
  • हरविंदर ने पति के खिलाफ शिकायत करने वालों पर चोरी का आरोप लगाया था

रोपड़ पुलिस थाने में मां बेटी को 2 दिन तक रखने पर पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने दोनों को एक एक लाख रुपए मुआवजा देने के आदेश दिए हैं। जस्टिस राजीव शर्मा और जस्टिस हरिंदर सिंह सिद्धू की खंडपीठ ने फैसले में कहा कि राज्य सरकार इस मुआवजा राशि की वसूली मामले में जिम्मेदार पुलिस कर्मियों से कर सकती है।

हाईकोर्ट ने कहा कि यदि पुलिस की बात मान भी ली जाए की दोनों मां बेटियों को भीड़ से बचाने के लिए पुलिस ने थाने में शरण दी तो भी 2 दिन तक बिना रोजनामचा में इंट्री किए और इलाका मजिस्ट्रेट को इसकी सूचना दिए बिना थाने में किसी को रखा नहीं जा सकता। ऐसे में तय कानूनी प्रक्रिया का पालन किया जाना जरूरी है।

ऐसा ना करने पर इसे कानून का उल्लंघन माना जाएगा। रोपड़ निवासी परनीत कौर ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर कहा कि उसकी मां हरविंदर कौर और बहन रूपिंदर कौर को पुलिस ने जबरन थाने में बंधक बनाकर रखा। दोनों के खिलाफ कोई केस भी दर्ज नहीं किया गया था। हाईकोर्ट की सिंगल बेंच ने इस मामले को सुनवाई के लिए डबल बेंच के पास रेफर किया था।

याचिका पर रोपड़ पुलिस की तरफ से जवाब में कहा गया कि हरविंदर कौर के पति के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज है। हरविंदर ने पति के खिलाफ शिकायत करने वालों पर चोरी का आरोप लगाया था। इस मामले को लेकर कुछ लोग हरविंदर के घर उसे जान से मारने के लिए पहुंचे। पुलिस ने इस संबंध में एफ आई आर भी दर्ज की है। दोनों को भीड़ से बचाने के लिए पुलिस अपने साथ थाने लेकर आई और परिस्थितियां सामान्य होने तक उन्हें थाने में शरण दी गई थी।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *