Adverts से है परेशान? बिना Adverts खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बिलासपुरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में शुक्रवार को कुछ लोगों ने दिन दहाड़े दुकान में घुसकर तलवार और चाकू से वार कर एक युवक की हत्या कर दी। युवक ने करीब एक साल पहले आरोपी को चोरी करते पकड़ने के बाद पुलिस को सौंप दिया था।

  • सिविल लाइन क्षेत्र के सिंधी कॉलोनी की घटना, three आरोपी गिरफ्तार
  • दो साथियों के साथ दुकान में घुसकर तलवार व चाकू से किया वार

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में शुक्रवार को कुछ लोगों ने दिन दहाड़े दुकान में घुसकर तलवार और चाकू से वार कर एक युवक की हत्या कर दी। युवक ने करीब एक साल पहले आरोपी को चोरी करते पकड़ने के बाद पुलिस को सौंप दिया था। इसी का बदला लेने के लिए वारदात को अंजाम दिया। इस मामले में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। मामला सिविल लाइन थाना क्षेत्र का है।

आरोपियों ने तलवार और चाकू से हरिशंकर पर वार कर दिया। इस दौरान बीच-बचाव करने आए उसके पिता से भी मारपीट की। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपियों ने तलवार और चाकू से हरिशंकर पर वार कर दिया। इस दौरान बीच-बचाव करने आए उसके पिता से भी मारपीट की। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक, कस्तूरबा नगर निवासी हरिशंकर यादव उर्फ रोशन यादव (23) पुत्र बल्लू यादव ने सिंधी कॉलोनी कारगिल चौक पास रंगोली की दुकान खोली थी। सुबह करीब 11.30 बजे वह अपने पिता बल्लू यादव के साथ दुकान में ही था। तभी चांटीडीह पठान मोहल्ला निवासी अरमान खान (18) अपने साथी मिनी बस्ती जरहाभाठा के फिरोज खान व चाटी डीह के आकाश सिंह के साथ दुकान में घुस आया।

सिम्स लेकर गए, लेकिन वहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया
आते ही आरोपियों ने तलवार और चाकू से हरिशंकर पर वार कर दिया। इस दौरान बीच-बचाव करने आए उसके पिता से भी मारपीट की। हमले में हरिशंकर बेहोश होकर गिर पड़ा तो आरोपी वहां से भाग निकले। बल्लू यादव ने आसपास के लोगों के साथ हरिशंकर को सिम्स लेकर पहुंचा, लेकिन वहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने पर पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पहले भी कर चुका था हत्या का प्रयास, three दिन पहले दी थी धमकी
दरअसल, एक साल पहले फिरोज एक मकान में चोरी कर रहा था। तब हरिशंकर और उसके साथियों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया था। तभी से फिरोज रंजिश रखने लगा। पिछले साल दुर्गा विसर्जन के दौरान भी हरिशंकर पर चाकू से हमला किया था। परिजनों ने बताया कि तीन दिन पहले फिरोज और उसके साथी रॉड, लाठी व तलवार लेकर घर के आसपास घूम रहे थे। हरिशंकर को जान से मारने की धमकी दी थी।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *