चतराfour घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

बाढ़ में फंसा ट्रैक्टर। बरसात में पत्थलगडा और सिमरिया के कई गांव इस नदी पर पुल नहीं रहने से टापू बन जाते हैं और बाढ़ से ऐसी दुर्घटना बराबर घटती रहती है।

  • चतरा के पत्थलगड़ा और सिमरिया प्रखंड सीमा पर बहने वाली नदी का है मामला
  • पत्थलगडा से तपसा की ओर जा रही थी ट्रैक्टर, ड्राइवर समेत तीन महिलाएं थी सवार

बुधवार दोपहर तीन बजे पत्थलगडा और सिमरिया प्रखंड के सीमा क्षेत्र में बहने वाली भुराही नदी में अचानक बाढ़ आ गई। नदी का जलस्तर बढ़ने से ट्रैक्टर चालक समेत चार लोग फंस गए। ग्रामीणों के अथक प्रयास के बाद ट्रैक्टर में सवार सभी चार लोग सुरक्षित बाहर से निकाल लिया गया। बताया जा रहा है कि ट्रैक्टर पत्थलगडा से तपसा की ओर जा रही थी। ट्रैक्टर भुराही नदी के पार कर रही थी। तभी नदी का जलस्तर बढ़ने लगा। ट्रैक्टर बीच नदी में पहुंचते ही वह बाढ़ से घिर गया।

बाढ़ में फंसा ट्रैक्टर और ट्रैक्टर को निकालने की कोशिश में जुटे स्थानीय लोग।

बाढ़ में फंसा ट्रैक्टर और ट्रैक्टर को निकालने की कोशिश में जुटे स्थानीय लोग।

ट्रैक्टर में ड्राइवर व तीन महिलाएं भी सवार थी। बाढ़ का बहाव इतना तेज था कि कई मीटर दूर ट्रैक्टर को बह गया। इस दौरान आसपास के लोग नदी के किनारे पहुंचे और ट्रैक्टर सवार महिलाओं और ड्राइवर को रस्सी की मदद से बाहर निकाला। उधर, नदी में बाढ़ आ जाने की वजह से नदी के दोनों छोर में सैकड़ों लोग घंटों फंसे रहे। ग्रामीण मुकेश गिरि, श्रवण कुमार, पवित्र पांडेय व अन्य ने बताया कि इस नदी पर पुल बनाने के लिए वे लोग कई बार फरियाद लगा चुके हैं। बरसात में पत्थलगडा और सिमरिया के कई गांव इस नदी पर पुल नहीं रहने से टापू बन जाते हैं और बाढ़ से ऐसी दुर्घटना बराबर घटती रहती है।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed