• Hindi Information
  • Native
  • Mp
  • Jabalpur
  • Unlawful Sand Mountain Created By Sieving Narmada In Sitaram Ghat … Main Motion Taken In Shahpura Space, 4 And A Half Hundred Cubic Meters Of Sand Seized, four Boats And Hut Have been Damaged

जबलपुरthree घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

नाव के जरिए नर्मदा से की जा रही रेत निकासी। (इनसेट) में तट पर लगा रेत का अंबार।

शहपुरा थाना क्षेत्र में झाँसीघाट स्थित सीताराम घाट में नावें लगाकर रेत माफिया द्वारा अवैध रेत उत्खनन किया जा रहा था। पुलिस व प्रशासन की टीम ने जब दबिश दी तो सभी चौंक गये। माफिया द्वारा नर्मदा नदी को छलनी कर घाट किनारे रेत का पहाड़ बनाया गया था जिसे जब्त किया गया। प्रारंभिक कार्रवाई के दौरान करीब 45 डम्पर यानी कि साढ़े four सौ घनमीटर रेत जब्त की गयी है। वहीं घाट के पास मिली four नाव व झोपड़ी को नष्ट किया गया है।

सूत्रों के अनुसार गत दिवस एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा द्वारा देहात क्षेत्र के सभी राजपत्रित अधिकारियों व थाना प्रभारियों की बैठक लेकर सख्त निर्देश दिए गये थे कि नर्मदा नदी के ऐसे स्थानों पर घाटों पर सतत निगरानी रखी जाए जहाँ पर रेत का अवैध उत्खनन हो रहा है। पुलिस को झाँसीघाट के सीताराम घाट पर नाव से अवैध रेत निकाली जाने की सूचना मिली थी। उसके बाद एसडीओपी पाटन देवीसिंह, तहसीलदार शहपुरा राजेश सिंह, टीआई सीएम शुक्ला एवं थाने के स्टाफ द्वारा घाट की घेराबंदी की गयी।

पुलिस टीम को देखते ही रेत माफिया में भगदड़ मच गयी और वहाँ मौजूद सभी लोग भाग गये। मौके पर घाट किनारे बड़ी मात्रा में नदी से निकाली गयी रेत का ढेर लगा हुआ था। कार्रवाई की सूचना पाकर खनिज निरीक्षक अभिषेक पटले मौके पर पहुँचे और घाट किनारे पड़ी हुई अवैध रेत की नपाई कराई गयी जो कि साढ़े four सौ घनफीट हाेना बताई जा रही है।

रेत माफिया के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। अवैध उत्खनन पर कार्रवाई इसी तरह जारी रहेगी।
सिद्धार्थ बहुगुणा एसपी

नदी में कूदकर भागे रेत माफिया के गुर्गे

सूत्रों के अनुसार सीताराम घाट पर रेत खनन में जुटे रेत माफिया के गुर्गों को जैसे ही पुलिस कार्रवाई की भनक लगी वे नाव छोड़कर नदी में कूदे और तैरकर दूसरे घाट पर पहुँचकर भाग गये। कार्रवाई के दौरान टीम के सदस्यों ने नदी में मिली four नाव व घाट किनारे मजदूरों का खाना बनाने के लिए बनाई गयी झोपड़ी को नष्ट किया।

महीनों से हो रही थी रेत की निकासी

तहसीलदार राजेश सिंह ने बताया कि ग्रामीणों से पूछताछ में पता चला कि सीताराम घाट पर कई महीनों से रेत की निकासी की जा रही थी। प्रारंभिक जाँच में पता चला है कि नर्मदा नदी से रेत उत्खनन का कार्य ग्राम ठूंठा निवासी किसी रमेश सिंह के द्वारा कराया जा रहा था। पूछताछ के बाद पुलिस अवैध रेत उत्खनन करने वालों की पतासाजी में जुटी है।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *