}; (function(d, s, id){ var js, fjs = d.getElementsByTagName(s)[0]; if (d.getElementById(id)) {return;} js = d.createElement(s); js.id = id; js.src = "https://connect.facebook.net/en_US/sdk.js"; fjs.parentNode.insertBefore(js, fjs); }(document, 'script', 'facebook-jssdk'));


Advertisements से है परेशान? बिना Advertisements खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुरfour घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

यह तस्वीर रायपुर के मालवीय रोड की है, जहां धनतेरस के मौके पर गुरुवार को बाजारों में जबरदस्त भीड़ उमड़ी। यहां सुबह 11 बजे के बाद से इतनी भीड़ उमड़ी कि पैदल चलना मुश्किल हो गया और ट्रैफिक भी व्यस्त रहा। ट्रैफिक पुलिस के तीन दल बाजार में उतारे गए। हर दस्ता यही देख रहा था कि सड़क की पार्किंग लाइन तक दुकानें न फैलें। एक भी गाड़ी को रोड पर खड़े होने की अनुमति नहीं दी गई। देर शाम तक यही स्थिति रही। गोलबाजार, सदर, शास्त्री मार्केट और पंडरी कपड़ा बाजार में भी ट्रैफिक सिस्टम ध्वस्त हो गए और फोर्स के साथ अफसरों को उतरना पड़ा।

  • रिकवरी रेट 89, मरीजों की वृद्धि दर 0.eight फीसदी

प्रदेश में गुरुवार को कोरोना के 1817 नए केस सामने आए हैं। इनमें रायपुर के 155 नए संक्रमित भी शामिल हैं। इस बीच, राजधानी में कोरोना की वजह से एक मौत समेत 20 मौतें हुई हैं। प्रदेश में अब भी सबसे ज्यादा सक्रिय मरीज राजधानी में ही है। यहां बीते डेढ़ महीने से साढ़े सात हजार से ज्यादा एक्टिव मरीज घर या अस्पताल में है। हालांकि प्रतिदिन औसतन सौ मरीज स्वस्थ भी हो रहे हैं। त्योहार के मौके पर कोरोना के लिहाज एक बड़ी राहत की खबर है। एक्टिव मरीजों का औसत गिरकर अब 9.eight प्रतिशत पहुंच गया है। मार्च से लेकर अब तक एक्टिव मरीजों के औसत में आई अब तक कि ये सबसे बड़ी गिरावट है। इस हफ्ते की शुरुआत में एक्टिव केस साढ़े दस फीसदी पर आ गए थे। जबकि इसके पहले अक्टूबर के आखिरी हफ्ते में ये 15 प्रतिशत से ज्यादा था। प्रदेश में फिलहाल 20 हजार से ज्यादा संक्रमित सक्रिय मरीजों की श्रेणी में है। प्रतिदिन करीब उन्नीस सौ मरीज स्वस्थ भी हो रहे हैं। प्रदेश में एक लाख 85 हजार से ज्यादा मरीज अब तक पूरी तरह ठीक हो गए हैं। इतना ही नहीं, प्रदेश में ठीक होने वाले मरीजों की तादाद में लगातार इजाफा होने के कारण रिकवरी रेट बढ़कर 89 प्रतिशत पर पहुंच गया है। वहीं, मरीजों की वृद्धि दर भी घटकर 0.eight प्रतिशत पर आ गई है। एक्टिव अनुपात, रिकवरी और ग्रोथ रेट के तीनों ही संकेतकों में इस तरह की स्थिति पहली बार बनी है।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *