फरीदकोटएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

फरीदकोट जिले के गांव कलेर में राजस्थान मूल के एक परिवार के चार सदस्यों के द्वारा अत्मदाह की घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस टीम।

  • राजस्थान के जिला सीकर के रहने वाले 40 वर्षीय धर्मपाल, 36 साल की पत्नी सीमा, 15 साल की बेटी मोनिका और 10 साल के बेटे हितेश के रूप में हुई
  • पिछले करीब 10 साल से यह परिवार पंजाब के फरीदकोट जिले के गांव कलेर में रह रहा था। धर्मपाल एक ईंट भट्‌ठे पर मुंशीगीरी करता था
  • सुसाइड नोट में लॉकडाउन के घाटे के अलावा मृतक धर्मपाल के परिवार ने भट्‌ठे पर काम करते शंटी नामक व्यक्ति को भी जिम्मेदार ठहराया

पंजाब के फरीदकोट में शनिवार को पति-पत्नी ने दो बच्चों के साथ केरोसिन डालकर आत्मदाह कर लिया। चारों की दर्दनाक मौत हो गई। बच्चों में 15 साल की एक बेटी और 10 साल का एक बेटा था। इस खौफनाक कदम की वजह आर्थिक तंगी को माना जा रहा है। मौके से एक सुसाइड नोट भी मिला है। लेकिन, पुलिस ने उसके बारे में कुछ नहीं बताया है। मृतक दंपति राजस्थान के रहने वाले थे और ईंट-भट्‌ठे पर काम करते थे।

घटनास्थल पर उमड़ी ग्रामीणों की भीड़। बताया जाता रहा है कि सुबह घर से धुआं उठते देख पड़ोसियों ने दरवाजा तोड़ा। फिर पुलिस को बुलाया।

घटनास्थल पर उमड़ी ग्रामीणों की भीड़। बताया जाता रहा है कि सुबह घर से धुआं उठते देख पड़ोसियों ने दरवाजा तोड़ा। फिर पुलिस को बुलाया।

मृतकों की पहचान मूल रूप से राजस्थान के जिला सीकर के रहने वाले 40 वर्षीय धर्मपाल, 36 साल की पत्नी सीमा, 15 साल की बेटी मोनिका और 10 साल के बेटे हितेश के रूप में हुई है। पिछले करीब 10 साल से यह परिवार पंजाब के फरीदकोट जिले के गांव कलेर में रह रहा था। धर्मपाल एक ईंट भट्‌ठे पर मुंशीगीरी करता था। शनिवार को इस परिवार ने खुद पर कैरोसिन डालकर आग लगा ली।

पुलिस ने भी मौके पर पहुंचकर मामले की जांच-पड़ताल शुरू की। प्राथमिक जांच के मुताबिक, इस सामूहिक आत्महत्या का कारण कोरोना लॉकडाउन में खाने-पीने का संकट हो जाना माना जा रहा है। इसका खुलासा मौके से मिले सुसाइड नोट से हुआ है। इसके अलावा मृतक धर्मपाल के परिवार ने भट्‌ठे पर काम करते शंटी नामक व्यक्ति को भी जिम्मेदार ठहराया है।

वहीं गांव के लोगों ने बताया कि जब उन्होंने सुबह उनके घर से धुआं बाहर निकलते देखा और गांव वालों के आवाज लगाने पर उसने कोई उत्तर नहीं दिया तो गांव वालों ने दरवाजा तोड़ दिया। अंदर देखा तो सारा परिवार आग से झुलस चुका था। खबर लिखे जाने तक पुलिस द्वारा पूरे मामले की बारीकी से जांच-पड़ताल की जा रही है।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *