}; (function(d, s, id){ var js, fjs = d.getElementsByTagName(s)[0]; if (d.getElementById(id)) {return;} js = d.createElement(s); js.id = id; js.src = "https://connect.facebook.net/en_US/sdk.js"; fjs.parentNode.insertBefore(js, fjs); }(document, 'script', 'facebook-jssdk'));


Adverts से है परेशान? बिना Adverts खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ग्वालियर11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

डॉक्टर अजय शंकर।

जीआरएमसी के पूर्व डीन और ग्वालियर अंचल में आईसीयू और डायलिसिस यूनिट की शुरुआत कराने वाले डॉक्टर अजय शंकर का गुरुवार को निधन को गया। वो 94 वर्ष के थे और शहर के काफी चर्चित डॉक्टर थे।

पूर्व सीएमएचओ डॉ. मृदुल सक्सैना ने बताया कि डॉ. अजय शंकर ने जब जेएएच में आईसीयू शुरू कराया था तब देश के मेट्रो सिटी में आधा दर्जन से भी कम आईसीयू थे। देश में पहली बार 1975 में ईसीजी का ट्रांसमिशन टेलीफोन और वायरलेस से किया। उन्होंने एक एंबुलेंस बनवाई जो गांव में जाती थी और उनमें बैठे डॉक्टर वहां गांव में ही ईसीजी लेते थे और ईसीजी उसी समय जेएएच में बैठे विशेषज्ञ को दिख जाता था और वह वहीं से तुरंत इलाज चालू कर देते थे।

जब तक मरीज अस्पताल पहुंचता था तो उसका ईलाज शुरू हो चुका होता था। जीआरएमसी के डीन डॉ. एसएन अयंगर, अधीक्षक डॉ. आरकेएस धाकड़, सीएमएचओ डॉ. मनीष शर्मा, वरिष्ठ मेडिसिन विशेषज्ञ डॉ. एनएन लाहा सहित शहर के वरिष्ठ चिकित्सकों ने उनके निधन को चिकित्सा जगत के लिए बड़ी क्षति बताया है।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *