पटना23 मिनट पहलेलेखक: प्रणय प्रियंवद

  • कॉपी लिंक

यह जमुई में तेजस्वी यादव की सभा की फोटो है।

  • रविवार के दिन तेजस्वी ने चार चुनावी सभाएं की हैं
  • दो क्या, एक गज की दूरी भी भीड़ में नहीं दिखी

तेजस्वी यादव की सभाओं में उमड़ी भीड़ ने सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क से जुड़े सभी नियम हवा में उड़ा दिए। दो गज की दूरी क्या, एक गज की दूरी भी भीड़ में नहीं दिख रही थी। दिन रविवार का और तेजस्वी की सभा मोकामा, लखीसराय, जमुई और शेखपुरा में उनकी सभा थी। इन सभाओं मे किसी को कोविड की कोई परवाह नहीं दिखी। लोग काफी नजदीक-नजदीक खड़े रहे और नारेबाजी करते रहे। भाषण ने लोगों में ऐसा जोश भरा कि लोग जैसे सब कुछ भूल गए।

अब ऐसी सभाओं की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है और इससे कोरोना के तेजी से फैलने का खतरा हो सकता है। लेकिन, इसकी फिक्र न पार्टी को है, न चुनाव आयोग को और न स्वास्थ्य विभाग को। स्थिति ऐसी है कि कोरोना का प्रसार चुनावी सभाओं की वजह से शहर से गांव की ओर तेजी से जा सकता है।

चुनावी हलचल के बीच बढ़ रहा कोरोना संक्रमण

चुनाव की हलचल के बीच बढ़ता कोरोना संक्रमण का मामला चिंता की बात बन रहा है। शनिवार रात ही कोरोना पीड़ित पूर्णिया के आईजी विनोद कुमार का पटना एम्स में निधन हो गया है। बिहार में पहली बार पुलिस विभाग के किसी बड़े अधिकारी की मौत कोरोना से हुई है। अब तक कई नेताओं की संक्रमण से मौत हो चुकी है और कई की हालत गंभीर है। बिहार सरकार के मंत्री कपिलदेव कामत की हाल में ही कोविड संक्रमण से मौत हुई है। इससे पहले भाजपा नेता और मंत्री विनोद सिंह की मौत हो गई थी। विनोद सिंह कोरोना से स्वस्थ हो गए, लेकिन बाद में ब्रेन हेमरेज हो गया था। गया के जदयू सांसद विजय मांझी भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। डॉक्टरों ने उन्हें होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी है।

राज्य में 1173 नए केस

राज्य में एक बार फिर कोरोना जांच ने रफ्तार पकड़ ली है। पिछले 24 घंटे में 120713 सैंपल की जांच हुई, जिसमें 1173 नए संक्रमित मिले। राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 203060 हो गई है। लेकिन, इसमें से 191515 स्वस्थ हो चुके हैं। एक्टिव मरीजों की संख्या 10554 ही रह गई है। एक सप्ताह पहले सैंपल जांच की संख्या कभी एक लाख तो कभी 98 हजार पर आ गई थी।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *