कपूरथला2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • तस्करी का नया फंडा एक्साइज विभाग की सख्ती के बाद कार और कैंटर की जगह अन्य वाहन इस्तेमाल कर रहे तस्कर
  • नया मामला सुल्तानपुर लोधी से 36 बोतल शराब समेत 2 तस्कर पकड़े, जमानत पर किए रिहा

(रजनीश चौधरी)
पंजाब सरकार की सख्ती के दावों के बावजूद जिले में अवैध शराब की तस्करी का धंधा थम नहीं रहा। अवैध शराब का धंधा रोकने के लिए पुलिस विभाग के साथ आबकारी विभाग को भी जोड़ दिया गया है। फिर भी जिले के क्षेत्रों में नाजायज शराब बेचने तथा पकड़ने का सिलसिला जारी है। अवैध शराब बेचने वाले तस्करों को जिला पुलिस ने कई बार पकड़ा है लेकिन जमानत पर रिहा होकर शराब तस्कर फिर से नाजायज शराब बेचने के धंधे में जुट जाते हैं।

शराब तस्कर दूसरे राज्यों से सस्ती शराब मंगवाकर जिले में बेचते है। जिला पुलिस ने सुल्तानपुर क्षेत्र से 36 नाजायज शराब की देसी बोतलें, जिनमें 12 बोतलें ‘असली मोटा संतरा’ की है जबकि 24 बोतलें ‘पंजाब गदर संतरा’ की हैं, बरामद कीं। दोनों शराब तस्कर नशे से बदनाम जाने वाले गांव लाटियावाल के हैं। पुलिस ने दोनों पर केस दर्ज कर जमानत पर रिहा कर दिया है।

बता दें कि प्रदेश में ही तैयार की जाने वाली शराब को यदि कोई शराब तस्कर बेचता है तो उसकी जमानत हो जाती है जबकि दूसरे राज्यों से शराब लाकर बेचने वालों की जमानत नहीं होती है। थाना सिटी के इंस्पेक्टर दीपक शर्मा ने बताया कि जिले में अवैध शराब तस्करी के कई मामले सामने आ रहे हैं। आजकल ब्रैड-पिज्जा बेस गाड़ियों में भी अवैध शराब की सप्लाई की जा रही है। पुलिस इन गाड़ियों पर नजर रखे हुए हैं।

ब्यास दरिया अवैध शराब तैयार करने का बना अड्‌डा

  • 23 सितंबर 2020 को ब्यास दरिया किनारे रेड के दौरान 1000 किलो लाहन का बड़ा जखीरा हाथ लगा। पुलिस के हाथ कोई शराब तस्कर नहीं आया। थाना कबीरपुर की पुलिस को सरकंडो के बीच छिपाकर रखे 5 ड्रम लाहन से भरे बरामद किए।
  • four अगस्त को सुल्तानपुर लोधी की पुलिस ने अलग-अलग क्षेत्रों में छापेमारी कर नाजायज शराब का धंधा करने वालों से 780 किलो लाहन बरामद कर उन्हें गिरफ्तार किया था।
  • 2 अगस्त को थाना कबीरपुर की पुलिस ने 160 किलो लाहन, कोतवाली पुलिस ने 100 लीटर, ढिलवां पुलिस ने 180 किलो लाहन तो सुल्तानपुर लोधी ने 300 किलो लाहन के साथ आरोपियों को गिरफ्तार किया था।
  • 29 जुलाई को थाना कबीरपुर ने 180 किलो लाहन ब्यास के पास स्थित गांव मंड अंदरीसा से पकड़ी थी। आरोपी हाथ नहीं लगे।
  • 27 जुलाई को तलवंडी चौधरियां पुलिस ने 495 किलो लाहन पकड़ी थी। इनमें से 1 आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था जबकि अन्य आरोपी भाग गए थे।
  • 24 जून को ब्यास दरिया किनारे गांव मंड अंदरीसा और भरोआणा के पास सरकंडों के बीच पेड़ को रस्सी बांध पानी में छिपाकर रखी 2200 किलो लाहन पकड़ी थी पर तस्कर हाथ नहीं लगा था।

कोठी किराए पर लेकर करते हैं कारोबार

  • 27 जुलाई को एक्साइज विभाग ने डडविंडी में ठेकेदार ने अवैध शराब एक कैंटर में मंगवाई थी। शराब अमृतसर से लाई गई थी। इसमें 208 पेटियां बीयर थंडर बोल्ट, 56 पेटियां बीयर किंग फिशर, 260 पेटियां ब्लैक हार्स व्हिस्की, 17 पेटियां फर्स्ट च्वाइस रखी हुई थी। थाना सदर में केस दर्ज करवाया था।
  • 6 सितंबर को सीआईए स्टाफ पुलिस ने शराब ठेकेदार रमन कुमार, जो मिसिज मनजीत कौर शराब ठेकेदारों की फर्म में हिस्सेदार है। उसने गांव भुलाणा में कोठी किराए पर ले रखी थी। पुलिस ने रेड कर राज कुमार उर्फ राजू, गोल्डी शर्मा और राजेश कुमार को टाटा पिकअप गाड़ी समेत काबू कर लिया।

एफआईआर में तस्करों का पकड़ने का तरीका एक जैसा
जिले में शराब तस्करी और पुलिस का तस्करों को पकड़ने का तरीका आज तक नहीं बदला है। शराब तस्कर अवैध शराब बेचने के लिए ग्राहक का इंतजार कर रहा होता है या फिर गांव के कच्चे रास्ते से तथा अपने दाएं हाथ में प्लास्टिक का कैन उठाए आ रहा होता है। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंचती है और शराब बेचने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार कर लेती है।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *