}; (function(d, s, id){ var js, fjs = d.getElementsByTagName(s)[0]; if (d.getElementById(id)) {return;} js = d.createElement(s); js.id = id; js.src = "https://connect.facebook.net/en_US/sdk.js"; fjs.parentNode.insertBefore(js, fjs); }(document, 'script', 'facebook-jssdk'));


Advertisements से है परेशान? बिना Advertisements खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ठियोग19 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

पिछले कई दशकों से वाहनों की पार्किंग की समस्या से जूझ रहे ठियोग नगर में एक भी पार्किंग को शुरू नहीं किया जा सका है जबकि वर्तमान नप का कार्यकाल भी पूरा होने को है।

ठियोग नगर के वार्ड संख्या 7 और चार में दो पार्किंगों का निर्माण पिछले कई सालों से चल रहा है। जिनमें वार्ड नम्बर 7 में डीएवी स्कूल के पास बन रही पार्किंग का कार्य कई माह पूर्व पूरा वही हो चुका है लेकिन इसका लोकार्पण न होने और इसका ठेका न होने के कारण न तो इसका सही उपयोग हो रहा है न ही नगर परिषद को इस पार्किंग से कोई आमदनी हो रही है। इस पार्किंग में कई लोगों ने मुफ्त में अपने वाहन स्थाई रूप से पार्क कर रखे हैं।

इसी प्रकार वार्ड संख्या चार में पार्किंग कई सालों से अधूरी पड़ी है। इस पार्किंग पर कुछ साल पहले एक लेन्टल डाला गया था। उसके बाद यहां तह बाजारियों को अस्थाई रूप से बिठा दिया गया।

कई महीनों से तहबाजारी इस पार्किंग में डटे हुए हैं जबकि नगर परिषद ने इन तह बाजारियों के लिए सब्जी मंडी के पास दुकानें भी बना दी हैं।

यहां निर्माणाधीन पार्किंग में भी कई लोगों ने कब्जा कर अपने वाहन स्थाई रूप से निचली मंजिल में लगा रखे है। उधर नगर के लोगों का कहना है कि इन दोनों पार्किंगों को सुचारू रूप से चलाया जाए। इससे जहाँ लोगों को पार्किंग की सुविधा मिलेगी वहीं इन पार्किंगों से नगर परिषद को वही सालाना राजस्व मिलेगा।

उल्लेखनीय है कि ठियोग नगर में एक भी सार्वजनिक पार्किंग नहीं है। इस कारण लोगों को जहाँ भारी असुविधा है वहीं नगर की सड़कों पर पार्क होने वाले वाहनों के कारण यातायात में बाधा आती है।

खासकर ग्रामीण इलाकों से जरूरी कामों के लिए या बाजार आने वाले ग्रामीणों को नगर से दूर वाहन खड़े कर पैदल बाजार या कार्यालयों को आना पड़ता है। ठियोग नगर परिषद में पिछले पांच सालों में तीन बार अध्यक्ष बदल चुके हैं।

वर्तमान अध्यक्ष शीला वर्मा ने बताया कि वार्ड नम्बर 7 में बनी पार्किंग विजिलेंस जांच के कारण शुरू नहीं हो पाई है। जबकि वार्ड नम्बर चार की पार्किंग में तह बाजारियों को अस्थाई जगह दी गई थी। तह बाजारियों के लिए शेड बनाये गए हैं लेकिन ठेकेदारों के आपसी विवाद के कारण ये मामला भी विजिलेंस जांच में है।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *