• Hindi Information
  • Native
  • Bihar
  • Chirag Paswan Replace; LJP Get together Nationwide President Phrases Modified In opposition to Nitish Kumar After Delhii Election

पटना7 घंटे पहले

चिराग पासवान ने इस चुनाव में अकेले लड़ने का फैसला किया है। वे एनडीए से अलग हो गए हैं।

  • चिराग फरवरी 2020 में दिल्ली में एक सभा में नीतीश कुमार की तारीफों के पुल बांधते नहीं थक रहे थे
  • आठ माह बाद वही चिराग नीतीश कुमार और उनकी महत्वाकांक्षी योजना सात निश्चय को लेकर आग उगल रहे हैं

राजनीति संभावनाओं का खेल है और वक्त के साथ नेता न सिर्फ साथी बल्कि अपनी बात भी बदल लेते हैं। यह बात लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के हालिया फैसलों से सही साबित होती है। जो चिराग फरवरी 2020 में दिल्ली में एक सभा में नीतीश कुमार की तारीफों के पुल बांधते नहीं थक रहे थे, सात निश्चय की योजनाओं की खूबियां मुंह-जबानी जनता को सुना रहे थे, आठ माह बाद वही चिराग नीतीश कुमार और उनकी महत्वाकांक्षी योजना सात निश्चय को लेकर आग उगल रहे हैं।

अब चिराग को नीतीश कुमार बिहार की जनता के सिर पर लदा बोझ लगने लगे हैं और उन्हें सात निश्चय योजना में भ्रष्टाचार नजर आने लगा है। चिराग ने कहा है कि अगर उनकी सरकार बनती है तो सात निश्चय योजना की जांच कराएंगे और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। चिराग का सात निश्चय की तारीफ करने वाला एक वीडियो इन दिनों चर्चा में है। वहीं, आजकल वो मीडिया में सात निश्चय की आलोचना करने हुए दिख रहे हैं।

चिराग पासवान ने इस चुनाव में अकेले लड़ने का फैसला किया है। वे एनडीए से अलग हो गए हैं। एनडीए से अलग होने की सबसे बड़ी वजह उन्होंने सात निश्चय योजना को ही बताया है। उन्होंने कहा है कि हमारी सरकार आई तो सात निश्चय योजना के तहत लंबित राशि का भुगतान तुरंत कराएंगे। ताकि अधूरे काम पूरे हो सकें। उन्होंने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा था कि वे सहयोगियों की नहीं सुनते हैं। नीतीश को हराना ही हमारा लक्ष्य है। यह भी कहा था कि हम जदयू के साथ मजबूरी में थे। चिराग ने कहा था कि मैं हमेशा से नीतीश के खिलाफ रहा हूं। इस चुनाव में नीतीश का पत्ता जनता काट देगी।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed