}; (function(d, s, id){ var js, fjs = d.getElementsByTagName(s)[0]; if (d.getElementById(id)) {return;} js = d.createElement(s); js.id = id; js.src = "https://connect.facebook.net/en_US/sdk.js"; fjs.parentNode.insertBefore(js, fjs); }(document, 'script', 'facebook-jssdk'));


Adverts से है परेशान? बिना Adverts खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भोपाल6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सीएम शिवराज सिंह चौहान बेटे कार्तिकेय के साथ विदिशा में अपने खेत में गेहूं की बुआई करने पहुंचे।

  • शिवराज सिंह चौहान पेशे से किसान हैं, वह 1991 से 2006 तक विदिशा से 5 बार सांसद रहे हैं

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को किसान के अंदाज में नजर आए। वह विदिशा में अपने खेत में खुद ट्रैक्टर चलाकर जुताई करते हुए नजर आए। उनके साथ बेटा कार्तिकेय चौहान भी थे। शिवराज ने खेतों में ट्रैक्टर से जुताई की और गेहूं की फसल की बुवाई की शुरुआत की।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, ‘उत्तम खेती’ सचमुच में खेती करने का आनंद ही अलग है। मैंने बचपन में भी खेती की है। तब बड़ी संख्या में ट्रैक्टर नहीं होते थे, बैलों में जुती नाड़ियां चलती थीं। कंधे पर ढुली टांगकर उसमें रखे हुए अनाज को हाथ से पोर में डालते थे, जिसे ऊरना कहते थे। पिछले साल जब शिवराज मुख्यमंत्री नहीं थे, तब भी वह विदिशा पहुंचे थे और खुद ट्रैक्टर से गेहूं की बुआई कराई थी।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अब अधिकतम खेती ट्रैक्टर से होती है, बैल बेरोजगार हो गए हैं। मैंने भी आज ट्रैक्टर से ही गेंहू की बोवनी की। आत्मिक सुख मिला, क्योंकि ये गेंहू की फसल जब तैयार होगी, तो इससे उपजे अनाज से कई लोगों का पेट भरेगा। खेती कठिन है, लेकिन फिर भी खेती का आनंद ही अलग है। बता दें कि शिवराज सिंह चौहान पेशे से किसान हैं। वह 1991 से 2006 तक विदिशा से 5 बार सांसद रहे हैं। उनका जन्म सीहोर जिले में हुआ है।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *