रांची14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

फाइल फोटो

  • दीपावली तक पूरी तरह रफ्तार पकड़ लेगा रांची का बाजार

झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स का मानना है कि दिवाली के दौरान राज्य की आर्थिक गतिविधियां पटरी पर लौट आएंगी। सरकार के कर में बढ़ोतरी और ऑटोमोबाइल सेक्टर में तेजी के आंकड़ों ने त्योहारी मौसम में आर्थिक दृष्टि से अच्छे संकेत दिए हैं। अर्थव्यवस्था की गति और ग्राहकों के बीच खरीदारी करने की क्षमता के आकलन को लेकर शनिवार को चैंबर भवन में रिटेलर इलेक्ट्रॉनिक्स, कॉस्मेटिक्स, जूता-चप्पल, मोबाइल, फर्नीचर, बर्तन और अन्य उत्पादों के व्यवसाय से जुड़े व्यापारियों की बैठक हुई।

इसमें लॉकडाउन की चुनौतियों से निपटने के बाद व्यापारी किस प्रकार अपने व्यापार को पुनः पटरी पर लाने का प्रयास कर रहे हैं, इस पर मंथन हुआ। व्यापारियों का कहना था कि लॉकडाउन के चलते बंद आर्थिक गतिविधियां धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही हैं। हालांकि कोविड-19 का प्रभाव अभी खत्म नहीं हुआ है। समझदार लोग घरों से निकलने से बच रहे हैं। इससे मार्केट में नकदी प्रवाह की समस्या बनी हुई है।

चैंबर की लोगों से अपील- ऑनलाइन नहीं, स्थानीय दुकान से खरीदें सामान
चैंबर अध्यक्ष कुणाल अजमानी ने कहा कि ऑनलाइन व्यापार का चलन बढ़ने से स्थानीय व्यापारियों को अधिक परेशानी हो रही है। उन्होंने स्थानीय व्यापारियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि उन्हें भी ऑनलाइन व्यापार की तर्ज पर प्रतिस्पर्धा में आगे आने का प्रयास करना चाहिए। उन्होंने ग्राहकों से भी आग्रह किया कि अपनी जरूरत के सामान स्थानीय व्यापारियों से ही खरीदें, क्योंकि भविष्य में भी उन्हें निर्बाध सेवाएं मिलती रहेंगी। प्रकाश कमालिया ने कहा कि पिछले 1 सप्ताह से बाजार में ग्राहकों की रौनक नजर आने लगी है। हालांकि, अभी भी लोगों के मन में कोविड-19 का डर है। ऑल इंडिया मोबाइल रिटेलर्स मैन्युफैक्चरर एसोसिएशन झारखंड के अध्यक्ष रवि खेमका ने कहा कि कई मोबाइल विनिर्माण कंपनियां केवल ई-कॉमर्स पर अपने उत्पादों बेचने में दिलचस्पी दिखा रही हैं। इससे खुदरा विक्रेताओं को दरकिनार किया जा रहा है।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *