करनालeight घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

निफा के 18वें शिविर में 66 रक्तदाताओं ने रक्तदान किया। थैलेसीमिया के मरीजों के लिए लगाए गए शिविर में भारतीय रेडक्रॉस दिल्ली की टीम को ये रक्त सौंपा गया। सभी रक्तदाताओं को विशेष प्रशस्ति ओर रक्तदाता का प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। रक्त दान के साथ साथ पौधा रोपण को प्रचारित करने के लिए हर रक्त दाता को तुलसी का पौधा व गुरु नानक देव के पावन स्थानों की मिट्टी व जल भी दिया गया।

मुख्य अतिथि सरपंच सुरजीत सिंह ने कहा कि रक्त दान महादान है और हर व्यक्ति को रक्त दान के लिए आगे आना चाहिए। निफा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एडवोकेट प्रीतपाल सिंह पन्नू ने कहा कि रक्तदान करने वाला हर व्यक्ति तीन से चार लोगों की जान बचाता है । रक्त न तो किसी फैक्ट्री में बन सकता है न ही जड़ी बूटियों को मिलाकर इसे पैदा किया जा सकता है। रक्त की संरचना केवल मानव शरीर में ही हो सकती है।

थैलेसीमिया से पीड़ित बच्चों के लिए विशाल रक्तदान शिविर 11 अक्टूबर को लगेगा

श्री सांवरिया मित्र मंडल करनाल एवं करनाल कैमिस्ट एसोसिएशन के सहयोग से मानव सेवा संघ में 11 अक्टूबर सुबह 9 बजे से दोपहर डेढ़ बजे तक थैलेसीमिया से पीड़ित बच्चों के लिए विशाल रक्तदान शिविर लगाया जाएगा। संयोजक कपिल किशोर, राम प्रसाद गोयल, तरसेम गुप्ता, दीपक गुप्ता, योगिंद्र गुप्ता, गणेश गर्ग, राजेश गुप्ता, जितेंद्र सिंगला, विजेंद्र गोयल ने बताया कि शिविर में सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क एवं सेनिटाइजेशन का सख्ती से पालन किया जाएगा।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *