बठिंडा16 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • नवरात्र पर फलों के साथ-साथ सब्जियों के भी दाम बढ़ने से बिगड़ा घरेलू बजट

शारदीय नवरात्र पर फलों के साथ-साथ व्रत में काम आने वाली चीजों के भी दाम आसमान छूने लगे हैं। जबकि नवरात्र में अधिकतर लोग प्याज-लहसुन का उपयोग नहीं करते फिर भी प्याज 50 से 60 रुपए किलो बिक रहा है। वहीं केला 50 रुपए दर्जन तो सेब 50 रुपए किलो बिक रहा है। वहीं आलू के दामों की बढ़ोतरी को देखते हुए नौ दिन का उपवास रखने वालों को इस बार ज्यादा कीमत चुकानी पड़ सकती है।

आलू, लौकी, कद्दू, सिंघाड़े के आटा का रेट पिछले साल की तुलना में 10 से 15 रुपए की बढ़ोतरी हुई है। वहीं इस बार तो आलू के दाम भी पिछले साल की तुलना में दोगुना हैं। तेल ने तो सीधे 20 से 25 रुपये प्रति किलो व दाल ने 10 से 15 रुपये की उछाल लगाई है। हरी सब्जियों के मूल्य में लगभग 20-25 रुपये प्रति किलो की तेजी आई है। सामान्य तौर पर आलू 40 तो प्याज 50 से 60 रुपए प्रति किलो में बिक रहा है।

शहर के व्यवसायी सुधीर गोयल कहते हैं कि अभी सरसों व दाल की नई फसल आने में समय है। इसमें दाम में गिरावट की संभावना बहुत कम है। एक अन्य दुकानदार अशोक कुमार बताते हैं कि नई हरी सब्जियां अभी मार्केट में आने में कम से कम 20 से 25 दिन का समय लगेगा। इसके बाद ही सब्जियों के रेट में गिरावट आएगी।

आलू व्यापारी के अनुसार आलू की पैदावार पिछली बार कम हुई थी। पहाड़ों पर आलू की खोदाई शुरू होने वाली है। नई आलू फसल आने से रेट सामान्य होंगे। नासिक, पूना व मध्यप्रदेश के जिलों में बारिश के चलते प्याज की फसल भी काफी प्रभावित हुई, इसका असर प्याज पर पड़ा है। जिन किसानों के पास प्याज हैं, वह महंगे मूल्यों में भेज रहे हैं।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *