चंडीगढ़three घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • दो मरीजों की कोरोना से हुई मौत, डिपार्टमेंट के आंकड़ों में शहर में अब सिर्फ 1292 एक्टिव मरीज

कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या शुक्रवार को और कम हो गई। शुक्रवार को सिर्फ 63 लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। इससे पहले four अक्टूबर को 85 केस आए थे। 63 मरीजों के संक्रमित पाए जाने के साथ ही एक्टिव मरीजों की संख्या 1292 हो गई है।

अभी तक शहर में 12985 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। वहीं, कोरोना से हो रही मौतों ने चिंता बढ़ा रखी है। शुक्रवार को भी दो मरीजों की कोरोना से मौत हो गई। कोरोना से मौत का आंकड़ा 188 हो गया है।

शहर के विभिन्न हॉस्पिटल में 161 मरीजों ने कोरोना को मात दी। अब तक 11505 मरीज कोरोना से ठीक हो चुके हैं। शुक्रवार को 102 संदिग्ध मरीजों के सैंपल लिए गए हैं। शुक्रवार को शहर में सबसे ज्यादा पॉजिटिव मरीज मनीमाजरा से मिले हैं। मनीमाजरा से 15 मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं।

वहीं, सेक्टर-40 से भी मरीजों के आने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार को यहां से 5 नए पॉजिटिव केस सामने आए। सेक्टर-15 से भी 6 केस पॉजिटिव पाए गए हैं। सेक्टर-22 से भी तीन संक्रमित मरीज पाए गए हैं।

दो बार मंगवाई थी एंटीजन किट
हेल्थ डिपार्टमेंट ने 10-10 हजार करके दो बार रैपिड एंटीजन किट एक करोड़ रुपए में मंगवाई थी। उसके बाद से रैपिड एंटीजन किट नहीं मंगवाई गई हैं। स्टॉक सीमित होने की वजह से अब रैपिड एंटीजन टेस्ट भी सीमित मात्रा में किए जा रहे हैं। जब केस ज्यादा आ रहे थे तो उस समय आरटीपीसीआर से ज्यादा रैपिड एंटीजन टेस्ट करवाए जा रहे थे। यह भी एक वजह है कि शहर में कोरोना के कम मरीज मिल रहे हैं। वहीं, जीएमएसएच-16 के एमएस वीरेंद्र नागपाल ने दावा किया कि किटों की कमी नहीं है। मरीज ही कम आ रहे हैं।

सेक्टर-16,32 और पीजीआई में खाली पड़े बेड
जीएमएसएच-16 में इस समय 550 बेड हैं। इनमें 223 पर मरीज हैं और 327 खाली हैं। इसके अलावा ऑक्सीजन की सुविधा वाले 390 बेड हैं। इनमें 165 पर मरीज हैं, जबकि 225 बेड खाली पड़े हैं। पीजीआई में 400 बेड कोरोना के लिए हैं, लेकिन इस समय पीजीआई में मात्र 138 पेशेंट ही दाखिल हैं। इनमें भी 50 चंडीगढ़ के हैं।

इनकी कोरोना से हुई मौत
1. सेक्टर-51 के 79 साल के बुजुर्ग ने वीरवार को मोहाली के प्राइवेट हॉस्पिटल में दम तोड़ दिया। बुजुर्ग को कोरोना के अलावा अन्य बीमारियां थीं। इस संबंध में प्राइवेट हॉस्पिटल ने चंडीगढ़ के हेल्थ डिपार्टमेंट के साथ जानकारी साझा नहीं की है।
2. मलोया की रहने वाली 50 साल की महिला टाइप-1 रेस्पिरेटरी डिजीज की मरीज थी। कोरोना पॉजिटिव होने के चलते उन्होंने शुक्रवार को जीएमएसएच-16 में दम तोड़ दिया।



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *